ये दोस्‍ती हम तोड़ेंगे…50 साल बाद अब क्‍या?

शोले फिल्‍म का गाना है, ये दोस्‍ती हम नहीं तोड़ेंगे… मगर एमपी की राजनीति के दो दोस्‍तों की दोस्‍ती 50 साल बाद टूटने जा रही है। हम बात कर रहे हैं कमलनाथ और दिग्विजय सिंह की। कमलनाथ के कांग्रेस छोड़ भाजपा में जाने की अटकलों के बीच मीडिया ने सवाल किया तो दिग्विजय सिंह ने…

जारी

महाराष्‍ट्र में परिवार की लड़ाई सड़क से बूथ तक

महाराष्ट्र की राजनीति में पवार परिवार की लड़ाई पहले घर से सड़क पर आई और अब सड़क से बूथ पर आने के आसार बन गए है। पूरी संभावना है कि परिवार का साथ छोड़ कर गए अजित पवार बारामती से लोकसभा चुनाव में अपनी पत्नी सुनेत्रा को बहन सुप्रिया सुले के खिलाफ मैदान में उतारेंगे।…

जारी

आपातकाल, एक खत और सरकारी नौकरी पर संकट

प्रख्‍यात हिंदी भाषाविद, लेखक और रतलाम महाविद्यालय के पूर्व प्राचार्य डॉ. जयकुमार जलज का बीते दिनों देहांत हुआ। उनके कृतित्‍व को नमन करते हुए उनके ही द्वारा बताई गई घटना यहां प्रस्‍तुत है। आपातकाल के दौरान की यह घटना वास्‍तव में मूल्‍यों के प्रति आस्‍था और जीवन का सटीक उदाहरण है।

जारी

बाबरौ बनाइ कै बैरागी कहलावत हैं

आशु चौधरी वृषभानु की लली देखऐसो चढ्यो राग-रंगमोरपंख धारी योंटेढ़े मुसक्यावत हैंललिता-विशाखा कूं दैचकमा भये यों चम्पतअकेली कर श्यामा जू केचरण पखरावत हैंअसीम लीला करत श्यामभनक न नैकूं दैकेरसिकन कूं बीच ठौरटेढो नचावत हैंराखत हैं दूरी परदूर राखत रागन तेबाबरौ बनाइ कैबैरागी कहलावत हैं। भावार्थ:-वृषभानु की लाली हमारी प्रिय श्री श्यामा जू को देख कर…

जारी

पहला प्यार और मैं: साथ भी और पास भी

मेरा पहला प्यार मुझे जब मिला तब मैं शायद साढ़े पांच साल की रही होंगी। मैं बोलती गयी, वो मुस्कुराता रहा और फिर जब मैंने अपने आसपास देखा तो सभी मुझे तारीफ भरी नजरों से देख रहे थे।

जारी

इश्‍क मेरा: जहां सफर ही मंजिल है

जब कभी मैं उदास होती हूं तो वह मुझे आवाज देती है-मानो कह रही हो, ‘चलो दोस्त लॉन्ग ड्राइव पर चलते हैं।’ मुझे उससे और उसे मुझसे गहरा इश्क है। उसके पहिये मेरे लिए पंख हैं। मैं उनके दम पर उड़ान भरती हूं।

जारी

मानसिकता कंट्रोल करता है शब्द जनरेशन गैप

‘फिलामेंट एलिमेंट :हंसध्वनि’, हमारे नए कॉलम का नाम है, ऐसा इसलिए कि आज का दौर न्यूक्लियस फैमिली का है, जिसमें दो पीढ़ियों के बीच संवाद और मिलन का अभाव है और इन के बीच मौजूद तीसरी पीढ़ी उपेक्षा महसूस करती हुई अकेलेपन का शिकार है। कोशिश होगी कि ‘फिलामेंट एलिमेंट: हंसध्वनि’ कॉलम में विषयों का तात्विक विवेचन हो।

जारी

दिमाग में चिप: सबसे बड़ा बिजनेस मैन सिर्फ परोपकार करेगा?

एलॉन मस्क की कंपनी न्यूरालिंक ने एक व्यक्ति के दिमाग में ‘ब्रेन-रीडिंग’ डिवाइस प्रत्यारोपित की है। शारीरिक रूप से असमर्थ लोग,लकवाग्रस्त लोग इस चिप की मदद से सिर्फ सोच कर ही अपने कम्प्यूटर का इस्तेमाल कर सकेंगे। यह तो है इस चिप का घोषित मकसद। पर हकीकत क्या है?

जारी

मोदी ‘रंग’ के आगे कितना टिकेगा भंग विपक्ष?

मोदी सिर्फ अपने मुद्दे और रणनीति ही तय नही करते बल्कि वे विपक्ष के मुद्दों को भी अपना हथियार बना लेते हैं। वे जैसे चाहे विपक्ष को उनकी पिच पर खेलने के लिए मजबूर कर देते हैं और यदि विपक्ष उसकी पिच पर लाने की कोशिश करता है तो उसे अपनी बनाकर मैदान को बिखेर देते है।

जारी