हिट विकेट कमलनाथ, अब चलो, चलो…

इस पूरे घटनाक्रम का हासिल यह है कि कमलनाथ ‘हिट विकेट’ हो गए हैं। कुशल राजनेता खुद अपने ही खेमे में गोल कर बैठे। बीजेपी में उनका जाना रूक गया मतलब फिलहाल बीजेपी नेतृत्‍व ने उन्‍हें हाथोंहाथ नहीं लिया है। और, इधर कांग्रेस में वे संदिग्‍ध हो गए।

जारी

दिमाग में चिप: सबसे बड़ा बिजनेस मैन सिर्फ परोपकार करेगा?

एलॉन मस्क की कंपनी न्यूरालिंक ने एक व्यक्ति के दिमाग में ‘ब्रेन-रीडिंग’ डिवाइस प्रत्यारोपित की है। शारीरिक रूप से असमर्थ लोग,लकवाग्रस्त लोग इस चिप की मदद से सिर्फ सोच कर ही अपने कम्प्यूटर का इस्तेमाल कर सकेंगे। यह तो है इस चिप का घोषित मकसद। पर हकीकत क्या है?

जारी

मोदी ‘रंग’ के आगे कितना टिकेगा भंग विपक्ष?

मोदी सिर्फ अपने मुद्दे और रणनीति ही तय नही करते बल्कि वे विपक्ष के मुद्दों को भी अपना हथियार बना लेते हैं। वे जैसे चाहे विपक्ष को उनकी पिच पर खेलने के लिए मजबूर कर देते हैं और यदि विपक्ष उसकी पिच पर लाने की कोशिश करता है तो उसे अपनी बनाकर मैदान को बिखेर देते है।

जारी

नया मुहावरा ‘राजनीति का आडवाणी हो जाना’

मुहावरे और लोकोक्तियां अनुभव का वे सार हैं जो हमारे जीवन में लाइट हाउस की तरह काम करते हैं। ऐसी ही सुभाषितानि भी होते हैं। जिन्‍हें बार-बार पढ़ा और याद किया जाना चाहिए ताकि जीवन में ठोकरों से बचा जा सके। इनदिनों ऐसा ही एक नया मुहावरा चल पड़ा है, राजनीति का आडवाणी हो जाना…

जारी

प्रासंगिक बने रहने की जुगत राजनीति के दो किरदार

22 जनवरी को जब मीडिया में राम प्रतिमा प्राण प्रतिष्‍ठा की खबरें छाई हुई थी और हर तरफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जिक्र तथा मध्‍यप्रदेश में एक नया ‘राजनीति कांड’ हुआ। यह राजनीति कांड उन दो नेताओं ने रचा जो पिछले डेढ़ दशक से मध्‍य प्रदेश की राजनीति के कर्ताधर्ता बने हुए हैं…

जारी

भगवान राम पर उमा भारती की सलाह कितनी जरूरी? 

समय के साथ मध्‍य प्रदेश की पूर्व मुख्‍यमंत्री उमा भारती के पद और जिम्‍मेदारियां बदलती रही लेकिन जो नहीं बदली वह है उनकी आक्रामक छवि और बोल। वे बोल जिनके कारण वे हमेशा विवादों से घिरी रही। इसबार भी जब राममंदिर को लेकर बीजेपी भविष्‍य की अपनी राजनीतिक…

जारी